सोमवार, जनवरी 23

जिंदगी अपना एतिहास फिर नही दोहरायगी ...

कुछ सालो बाद ये पल बहुत याद आयेगे,
जब हम सब दोस्त अपनी अपनी मंजिल पर पहुंच जाएंगे,
अकेले जब भी होगे साथ गुजरे हुए लम्हे याद आयेगे,
पैसे तो बहुत होगे पर सायद खरच करने के लिए लम्हे कम पढ जाएगे,
एक कप चाय याद दोस्तो  की दिलाएगी यही सोचते सोचते फिर से आंखे नम हो जायेगी ,
दिल खोलकर इन लम्हो को जी लो यारो  जिदंगी अपना एतिहास फिर नही दोहराएगी।...